मराठा आरक्षण पर ये क्या कह गईं ? मुख्यमंत्री की पत्नी अमृता फडणवीस… आप भी सुनिए

इस वक़त मराठा आरक्षण के नाम पर पूरा राज्य जल रहा है. कई जगहों से हिंसा तक की खबर आ रही है. इस हिंसा में अब ताल तीन लोगों की जान तक चली गयी है. सरकार और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस पूरी तरह से बैकफुट पर हैं. लेकिन जब इसी आरक्षण के मुद्दे पर मुख्यमंत्री फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस से पूछा गया तो उनका जवाब कुछ इस तरह था.

मुंबई के नेशनल पार्क में ट्री प्लांटेशन के कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंची महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस ने मराठा आरक्षण के मुद्दे पर कहा की, “मैं उस बारे में कॉमेंट नही कर सकती हूं. एक उनकी साइड हैं और एक गवर्मेंट के इशू हैं. कोर्ट की रूल अपनी तरफ हैं तो मैं इसमे कुछ बोल नही पाऊंगी”.

इसके साथ ही उन्होंने लोगों से ये भी आग्रह किया की किसी भी मुद्दे का हल हिंसा नहीं होना चाहिए. सरकार लोगों से बात करने को तैयार है तो फिर हिंसा आग जनि क्यों ? जिस संपत्ति को लोग नुक्सान पहुंचा रहे हैं वो आम नागरिकों का ही है. और इसकी वजह से आम नागरिक ही पीड़ित हो रहे हैं. “मराठा लोगों ने हमेशा से अहिंसा से अपनी बात सामने रखी हैं. लेकिन अब क्या हो गया की इतनी हिंसा. कुछ घटनाएं हुईं हैं. पर मुझे यकीन हैं कि आगे बहुत शांति से अपना पॉइंट डिस्कर्स करके आगे लाएंगे.

वहीँ दूसरी तरफ इस मामले को लेकर राजनीति भी पूरी तरह से जारी है. पंकजा मुंडे के एक बयान ने तो इस बात को हवा दे दी है की बीजेपी आलाकमान ममुख्यमंत्री बदलने के फ़िराक में है.

मराठा आरक्षण को लेकर 4 और विधायकों ने इस्तीफे दे दिए. हालांकि अब तक किसी का भी इस्तीफा स्वीकार नहीं किया गया है. अब तक इस्तीफा देने वाले विधायक हैं शिवसेना के हर्षवर्धन जाधव, एनसीपी के भाऊसाहेब चिकटगावकर कांग्रेस के भारत भालके, एनसीपी के रमेश कदम, बीजेपी के राहुल आहेर और सीमा हिरे.


Close Bitnami banner
Bitnami