महाराष्ट्र के अहमदनगर में सिर्फ एक महीने में 9,900 बच्चे हुए कोरोना संक्रमित , 3,100 बच्चों की उम्र 10 साल से कम

महाराष्ट्र के अहमदनगर में सिर्फ मई महीने में 9,900 बच्चे संक्रमित पाए गए हैं. जिसके चलते लोगों में काफ़ी खौफ नज़र आ रहा है. वहीं अहमदनगर के डीएम ने अप्रैल में हुई शादियों और बच्चों के खेलने को इसकी बड़ी वजह बताया है.

डीएम राजेंद्र भोसले ने कहा कि मई में अहमदनगर में करीब 86 हजार कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए हैं. बच्चों के संक्रमित होने पर उन्होंने कहा कि अप्रैल में काफी शादियां हुई थीं, जिनमें 18 साल से कम उम्र के लोगों की संख्या ज्यादा थी. साथ ही उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के दौरान भी बच्चे खेल रहे थे.

उन्होंने बताया कि मई में 9,928 नाबालिग संक्रमित हुए हैं. इनमें से 6,700 की आयु 11 से 18 साल के मध्य है. वहीं 3,100 संक्रमितों की आयु एक से दस वर्ष के बीच है. उन्होंने कहा कि इनमें से 95 फीसद में लक्षण नहीं मिले हैं, इसलिए घबराने की बात नहीं है. बच्चों का पॉजिटिविटी रेट 11 फीसद रहा है.

जहाँ एक तरफ़ लोग काफ़ी डरे हुए हैं तो वहीं अहमदनगर के बाल रोग कार्यबल के सदस्य डॉ. सचिन सोलाट ने कहा कि संख्या अधिक है, लेकिन हालात चिंताजनक नहीं हैं क्योंकि नाबालिगों में संक्रमण के लक्षण नहीं हैं. साथ ही सोलाट ने कहा कि ज्यादातर बच्चों में संक्रमण उनके परिवार के अन्य सदस्यों के जरिये पहुंचा है.

ग़ौरतलब है कि कुछ विशेषज्ञों ने हाल ही में तीसरी लहर में बच्चों के बड़ी संख्या में संक्रमित होने की बात कही थी. ऐसे में यह सवाल भी उठ रहा है कि कहीं यह तीसरी लहर की दस्तक तो नहीं है. भोसले ने कहा कि तीसरी लहर की आशंका के चलते यह जरूरी है कि बच्चों पर ज्यादा ध्यान दिया जाए.


Close Bitnami banner
Bitnami