NationalTop Stories

Exclusive- 200 लोगों का क़ातिल है ये शख्स 25 लाख का इनामी नक्सली है

0

आखिर सुकमा हमले में ख़ुफ़िया एजेंसियों से कहाँ चूक हो गयी जो नक्सलियों ने इतने बड़े हमले को अंजाम दे दिया. अगर सूत्रों कि मानें तो इस हमले के पीछे जिस शख्स ने पूरी साज़िश रची है वो बेहद कुख्यात है और उस पर अब तक 200 से ज़्यादा हत्या का आरोप है. सूत्र बताते हैं कि छत्तीसगढ़ के सुकमा में कायराना नक्सली हमला करने वाला शख्स कोई और नहीं बल्कि हिड़मा ही है . ये उसका ही प्लान था कि सीआरपीएफ जवानों को घेरकर उनपर हमला किया जाए. हुआ भी ठीक वैसा ही हमला तब किया जब सीआरपीएफ जवान खाना खा रहे थे और उन्हें सँभालने तक का मौका नहीं मिला.

इस नक्सली हमले के पीछे उसी कुख्यात और दुर्दांत नक्सल हिड़मा को जिम्मेदार बताया जा रहा है,ऐसा हमला उसकी प्लैनिंग में कोई पहली बार नहीं किया गया है. हिड़मा ने इससे पहले भी कई बार इसी तरह साज़िश रची थी और जिसमे कई जवानों को शहीद शहीद हो चुके है.

25 लाख का इनामी नक्सली है सुकमा हमले का मास्टरमाइंड

कौन है हिड़मा ? 

सूत्र बताते हैं कि हिड़मा ने इस हमले कि साज़िश करीब बीस दिन पहले रची थी. ये उसकी ही प्लैनिंग थी कि हमला ऐसे वक़्त पर किया जाए कि किसी को सँभालने तक का मौका भी नहीं मिला. हिड़मा ने उन नामो को तय किया था जिन्हें इस हमले में उसके साथ आगे से लीड करना था. हिड़मा ने छत्तीसगढ़ आंध्र प्रदेश और ओडिशा से करीब 300 नक्सलियों को जमा किया था.

हिड़मा नक्सलियों के साउथ बस्तर बटालियन की कमान SZC का मुखिया है. जिसकी ज़िम्मेदारी बड़े हमलों कि प्लैनिंग और उसे अंजाम तक पहुँचाना है. हिड़मा कि टीम में कुल 13 बेहद ख़ास कमांडर हैं जिन्हें किसी भी साज़िश कि जानकारी होती है.

हिड़मा को देश के दूसरे हिस्से के नक्सली और सुरक्षा एजेंसियां उसके उपनाम माडवी हिड़मा उर्फ इदमुल उर्फ पोडियाम भीमा के नाम से भी जानती है. हिड़मा सुकमा जिले के जगरगुंडा इलाके के पूवर्ती स्कूलपारा का रहने वाला है. सूत्र बताते हैं कि साल 2012 के बाद से , हिड़मा ने छत्तीसगढ़ में हुए ज्यादातर बड़े नक्सली हमलों कि साज़िश रची है. झीरम और ताड़मेटला में 107 लोगों की हत्या के पीछे भी हिड़मा कि ही साज़िश थी.

Image result for sukma attack

Exclusive – ख़ुफ़िया एजेंसियों कि चूक का नतीजा है सुकमा हमला​

छत्तीसगढ़ के दरभा की झीरम घाटी में 23 मई 2013 को नक्सलियों ने कांग्रेस की परिवर्तन यात्रा पर हमला कर कांग्रेस के बड़े नेताओं समेत 31 लोगों की हत्या कर दी थी. इस हमले को भी हिड़मा ग्रुप ने ही अंजाम दिया था. हिड़मा को पकड़ने के लिए सुरक्षा बल के करीब 500 जवान पिछले 5 साल से अभियान चला रहे हैं लेकिन हर बार नाकामी ही हाथ लगी.

पूरा परिवार है नक्सल

सुरक्षा एजेंसियों कि फ़ाइल में हिड़मा का पूरा काला चिटठा दर्ज है. सूत्र बताते हैं कि हिड़मा अकेला नहीं है बल्कि उसके परिवार के करीब एक दर्जन लोग उसके साथ हैं और उनकी पहचान भी कुख्यात नक्सलियों के तौर पर होती है. हिड़मा ने गांव के ही एक स्कूल में 8वीं तक पढ़ाई कि है. हिड़मा ने दो शादियां की थी, लेकिन शादी के कुछ साल बाद ही उसने पहली पत्नी को छोड़कर महिला नक्सली राजे उर्फ राजक्का से शादी कर ली थी. हिड़मा का एक भाई उसके टीम का सदस्य है जबकि दूसरा भाई माडवी नंदा नक्सलियों को पढ़ाता है.

 

छत्तीसगढ़ : सुकमा में नक्सलियों ने बारूदी सुरंग में किया विस्फोट, CRPF के 8 जवान शहीद

Previous article

रणवीर सिंह और अर्जुन कपूर को बॉम्बे है कोर्ट से बड़ा झटका, नहीं खारिज होगी उनके खिलाफ दायर एफआईआर

Next article

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published.

Close Bitnami banner
Bitnami