उग्र हुआ मराठा आंदोलन, शिवसेना सांसद चंद्रकांत खैरे के साथ मारपीट

मराठा आरक्षण की मांग को लेकर महाराष्ट्र के औरंगाबाद में एक युवक ने गोदावरी नदी में कूद कर खुदकुशी कर ली। औरंगाबाद में प्रदर्शन के दौरान काका साहेब दत्तात्रय शिंदे नाम के युवक ने नदी में कूद कर जान दे दी थी। जिसके बाद मंगलवार को उसका अंतिम संस्कार किया गया। अंतिम संस्कार के दौरान औरंगाबाद से शिवसेना के सांसद चंद्रकांत खैरे जैसे ही परिजनों से मिलने पहुंचे वहां मौजूद भीड़ ने उनके साथ हाथापाई की और उनकी गाड़ियों पर पथराव कर दिया। भीड़ के रुख को देखए हुए खैरे को मौके से लौटना पड़ा।

आंदोलन के दौरान युवक की मौत के बाद लोग नाराज हो गए और महाराष्ट्र के कई इलाकों में गाड़ियों- बसों में तोड़फोड़ की गई है। आज मराठा क्रांति मोर्चा ने महाराष्ट्र बंद का ऐलान किया है। कोल्हापुर, सातारा, सोलापुर, पुणे और मुंबई में हालात तनाव पूर्ण है। इस बीच मराठा समुदाय की नाराजगी को देखते हुए औरंगाबाद के डीएम उदय चौधरी ने मराठा क्रांति मोर्चा की अधिकांश मांगे मान ली है।

इस बारे में डीएम उदय चौधरी ने बताया कि सरकार मृतक काकासाहेब शिंदे के परिवार को 10 लाख रुपये मुआवजा देगी। साथ ही उनके छोटे भाई को सरकारी नौकरी भी दी जाएगी।

महाराष्ट्र में मराठा आंदोलन कि आग फैलती ही जा रही है। कल परभणी में आंदोलनकारियों ने एक सरकारी बस को आग के हवाले कर दिया और कई बसों पर पथराव किया है। इसमें कई यात्री घायल भी हुए हैं। सभी को परभणी जिला हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया है। इस हिंसा के बाद दो दर्जन से ज्यादा आंदोलनकारियोंको पुलिस ने हिरासत में लिया है। महाराष्ट्र में मराठा समुदाय सरकारी नौकरी और शिक्षा में आरक्षण सहित कई मांगों को लेकर दो दिन से आंदोलन कर रहा है। यह पहली बार है जब मराठा समाज के लोगों ने इस तरह का हिंसक आंदोलन किया है।


Close Bitnami banner
Bitnami