YOU TUBE ने मिलाया 40 साल पहले खोए हुए मणिपुर राइफल्स के जवान को परिवार से

मुंबई पुलिस ने एक बार फिर वो कर दिखया है। जिसके लिए वो जानी जाती है। इस बार मुंबई पुलिस ने 40 साल से बिछड़े एक शख्स को उसके परिवार से मिलवाया है। खुद उस शख्स के परिवार को भी यक़ीन नहीं हो रहा है उनका खोया हुआ अपना इतने साल बाद उन्हें मिल जाएगा। खोज हज़ारों किलोमीटर दूर मणिपुर के इम्फाल से शुरू होकर मुंबई में ख़त्म हुई है। ये किसी फ़िल्मी कहानी से काम नहीं है।

मणिपुर राइफल का जवान करीब 40 साल पहले अचानक अपने घर से लापता हो गया। उसके परिवार से लेकर बाटलियन तक ने उसे सालों खोजै लेकिन उसका कोई अता पता नहीं चल पाया। खोए हुए जवान के भाई कुलाचंद्र बताते हैं कि, उनके भाई खोमदरम गंभीर ने वर्ष 1978 में घर में बिना किसी को कुछ बताये कहीं चले गए। वो उस वक़्त मणिपुर राइफ्लस में नौकरी कर रहे थे। उनकी शादी हुई और शादी के दो महीने बाद उनके भाई ने बिना किसी को बताए घर छोड़ दिया था। उन्होंने ऐसा क्यों किया ये कोई नहीं जानता लेकिन वो परेशान चल रहे थे और अपनी शादी से भी खुश नहीं थे।

 

कुलाचंद्रा के मुताबिक उनकी तलाश कई जगहों पर की गई लेकिन कुछ पता नहीं चला। हारकर उनकी पत्नी भी अपने मायके चली गयीं। परिवार ने तो उन्हें मारा हुआ ही मान लिया था। फिर एक दिन अचानक एक सुबह उनके पड़ोसी ने उन्हें यू-ट्यूब पर एक वीडियो दिखलाया। वीडियो मुंबई का था जिसमे उनके भाई के जैसा ही एक शख्स सड़कों पर भटकते नजर आ रहे थे। पहले तो उन्हें पता नहीं चल प् रहा था की वीडियो कहाँ का है। किसी तरह उन्हें ये जानकारी मिली की वीडियो मुंबई का है।

 

वीडियो को देखकर उन्हें पक्का यक़ीन था की उसमे भटकता हुआ दिख रहा शख्स उनका भाई ही । इसके बाद सबसे पहले परिवार ने मुंबई पुलिस से संपर्क किया और अपने भाई को घर वापस लाने के लिए मदद मांगी। बिना वक़्त गवाएं मुंबई पुलिस ने भी उन्हें मदद का भरोसा दिलाया। फ़ौरन तत्परता दिखाते हुए उस शख्स को ढूंढ़ने के लिए कई टीमें बनाई गई और खोमदरम को खोज निकाला। अब जब मुंबई पुलिस ने खोमदरम को ढूंढ निकला है तो जल्दी ही उन्हें उनके परिवार वालों के पास पहुंचा देगी।

सबसे पहले इस बुज़ुर्ग को ढूंढ़ने के लिए कांग्रेस की एक कार्यकर्ता एंजेलिका ने ट्विटर के ज़रिये मुंबई पुलिस से गुजारिश करते हुए लिखा था कि पिछले 40 सालों से यह युवक अपने परिवार से दूर हैं कृप्या इन्हे तलाशने मे मदद करें। मुंबई पुलिस ने इस मामले को गंभीरता से लिया और आखिरकार कामयाबी हासिल की।


Close Bitnami banner
Bitnami