VIDEO : सुरक्षा रक्षक बने जीव रक्षक ! सतर्कता और सूझबूझ से बचाई तीन महिलाओं की जान

मुंबई के दादर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म पर तैनात आरपीएफ और एमएसएफ के जवान के सूझबूझ की वजह से तीन महिलाओं की जान बाल बाल बच गई है। ये घटना दादर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर चार की है। तीनों महिलाएं मंगलवार को कर्जत फ़ास्ट लोकल पकड़ने जा रही थी। प्लेटफार्म पर लोगों की भीड़ इतनी थी। तीनों गाडी पर चढ़ नहीं पाती है लोगों का धक्का लगने के बाद तीनों ट्रेन से निचे गिर जाती है। तीनों प्लेटफार्म और ट्रेन के बिच के गैप में फंसती उसके पहले प्लेटफार्म पर मौजूद आरपीएफ और एमएसएफ के जवान की नज़र इन महिलाओं पर पड़ी और सतर्कता दिखाते हुए तीनों को ट्रेन के निचे जाने से बचा लिया । ये पूरी घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया है।

मंगलवार को मध्य रेलवे के दादर रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर 4 पर आरपीएफ जवान राहुल जाधव तैनात थे। सुबह के समय कर्जत जाने वाली लोकल ट्रेन स्टेशन पर आने वाली थी। उसी ट्रेन से कल्याण जाने के लिए गायत्री सतनकर (20) अपनी 15 साल की बहन और एक महिला के साथ ट्रेन का इंतजार कर रही थी। जैसे ही ट्रेन स्टेशन पर आई भीड़ ट्रेन में चढ़ने के लिए एक दूसरे को धक्का देने लगी।

ये तीनों भी ट्रेन में चढ़ने की कोशिश करने लगे, भीड़ अधिक होने के कारण गायत्री ट्रेन के दरवाजे पर लगे रॉड को पकड़ कर किसी तरह से लटक गयी, गायत्री को पकड़ उनकी बहन और एक और महिला भी दरवाजे पर खड़े हो गए। इसी बीच जैसे ही ट्रेन चली गायत्री सतनकर अपना संतुलन संभाल नहीं पाई और नीचे गिर पड़ी। उसी के साथ गायत्री की बहन और वह महिला भी नीचे गिर पड़ी। इतने में वहां चीख पुकार मच गयी, मौके पर मौजूद आरपीएफ जवान राहुल जाधव तुरंत फुर्ती दिखाते हुए महिला को पकड़ कर पीछे खींच लिया। जाधव के साथ उनकी दो महिला सहयोगी वनिता शुक्ला और किरण जॉय ने भी जाधव की मदद करते हुए तीनो लोगों को पीछे खींच लिया, जिससे तीनो सही सलामत बच गए। इस घटना में तीनों को महिलाओं को मामूली सी चोटें लगी है।


Close Bitnami banner
Bitnami