शिवसेना के बड़बोले बोल : पर्रिकर को खराब सेंटा क्लॉज कहा

शिवसेना की गोवा इकाई ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर उनसे अनुरोध किया है कि वह मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर को कर्नाटक को महादेई नदी का जल लेने की अनुमति देने का कदम उठाने से रोकने के लिए हस्तक्षेप करें.

शिवसेना की गोवा इकाई की प्रवक्ता राखी प्रभुदेसाई नाइक ने क्रिसमस के मौके पर पर्रिकर के कदम को ‘खराब सेंटा क्लॉज’ का कदम बताते हुए कहा है कि इससे हमारे बच्चों से महादेई नदी के रूप में उनके भविष्य को छीना जा रहा है.

पत्र में लिखा गया है, ‘सेंटा क्लॉज बच्चों के चेहरों पर मुस्कान लाने के लिए उपहार बांटते हैं लेकिन हमारे पर्रिकर, जो ‘खराब सेंटा क्लॉज’ हैं, ने इसके बजाय महादेई नदी का पानी देने पर सहमति जताकर हमारे बच्चों के भविष्य पर ग्रहण लगाया है.’’ नाइक ने पत्र में लिखा कि पार्टी प्रधानमंत्री से पर्रिकर के व्यवहार पर अपनी नाखुशी जाहिर करना चाहती है.

ने का त्योहार है। ईसा मसीह का जन्मदिन आशाओं का प्रतीक है, लेकिन महादेई नदी का पानी कर्नाटक को देने पर रजामंदी जताने के पर्रिकर के फैसले से बेहतर भविष्य की राज्य की उम्मीद खत्म हो रही है.’’ प्रवक्ता ने पत्र में लिखा कि यह नदी प्रकृति की ओर से हमें मिला उपहार है और हमारे पूर्वजों ने इसकी पूजा और संरक्षण किया है। हमारी भावी पीढ़ियों को इसे पहुंचाना हमारी जिम्मेदारी है.

असली सेंटा क्लॉज की भूमिका निभाएं पार्रिकर

पत्र में प्रधानमंत्री से यह अनुरोध भी किया गया है कि पर्रिकर पर फैसले को वापस लेने का दबाव बनाकर ‘असली सेंटा क्लॉज’ की भूमिका निभाएं. इसमें लिखा है, ‘‘अगर आप क्रिसमस के मौके पर ऐसा करते हैं तो उम्मीद, प्यार और शांति का संदेश फैलाएंगे।’’ पर्रिकर ने हाल ही में भाजपा की कर्नाटक इकाई के अध्यक्ष बी एस येदियुरप्पा को लिखे पत्र में जल बंटवारे के मुद्दे पर गोवा के रुख को नरमी से पेश किया था. इसके बाद शिवसेना ने पत्र लिखा.


Close Bitnami banner
Bitnami