SHOCKING: BJP की नयी कारस्तानी टारगेट पूरा करने के लिए मुसलमान से ब्याह दी आदिवासी लड़की

इसे कहते हैं जल्दबाज़ी की शादी और कनपट्टी में सिन्दूर. ऐसे ही कुछ हुआ है बीजेपी शासित मध्य प्रदेश में जहां मंत्रियों और अफसरों की मौजूदगी में एक आदिवासी लड़की की मुस्लिम से शादी करा दी गई. जबकि लड़की का परिवार को जानकारी लगी तो बवाल मच गया. क्यूंकि वो इस शादी के लिए तैयार नहीं था. यह शादी मुख्यमंत्री कन्यादान योजना कार्यक्रम के तहत हुई।

ये सब सिर्फ इस लिए किया गया ताकि बाबुओं का टारगेट पूरा हो जाए. क्यूंकि इन अफसरों को सरकारी आदेश के तहत किसी भी कीमत पर एक हजार से अधिक जोड़ों की शादियां करानी थीं।

ये सब मध्यप्रदेश के रामनगर जिले में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत हुआ. जहाँ जिला प्रशासन पर कम से कम एक हजार जोड़ों की शादी का दबाव था. फिर क्या था अफसरों ने आनन् फानन में इंतज़ाम किया और कार्यकर्म आयोजित कर दिया गया . और तो और इस सामूहिक विवाह समारोह में केंद्रीय राज्यमंत्री सुदर्शन भगत, मंडला सांसद फग्गन सिंह कुलस्ते, राज्यसभा सांसद संपतिया और कलेक्टर सूफिया फारुकी जैसे अधिकारियों को विशेष कर बुलाया गया .

जानकरी के मुताबिक टारगेट काम होता देख अधिकारियों ने एक बेमेल जोड़ा तैयार किया जिसमे लड़का मुस्लमान और लड़की आदिवासी थी. आदिवासी लड़की के परिवार मुस्लिम से निकाह के लिए तैयार नहीं थे, मगर अधिकारियों ने दबाव डलवाकर मुस्लिम युवक से शादी करा दी. समारोह में नेताओं और अफसरों ने जोड़ों और उनके परिवार के साथ ठुमके भी लगाए.

अब जब ये पूरा फर्जीवाड़ा सामने आ गया है तो अधिकारियों को जवाब नहीं सूझ रहा है. ये कोई पहली बार नहीं है जब टारगेट पूरा करने के फेर में योजना में धांधली Ki गयी है. कहीं शादीशुदा जोड़ों की दोबारा शादी के मामले सामने आ रहे तो कहीं नाबालिगों के.


Close Bitnami banner
Bitnami