20 साल में सी-60 कमांडोज का अब तक का सबसे बड़ा ऑपरेशन

आज सी-60 कमांडोज की ख़ुशी थमने का नाम नहीं ले रही है वो नाच रहे हैं गा रहे हैं जश्न मनाया जा रहा है। इन सबके पीछे एक बड़ी वजह भी है पिछले एक साल में 7 बड़े हमले काट नक्सलियों ने 60 से अधिक जवानों को शाहिद कर दिया था। लेकिन गढ़चिरौली के जंगलों में सी-60 कमांडोज ने जो ऑपरेशन किया है उसे 20 साल में अब तक का सबसे बड़ा एनकाउंटर कहा जा रहा है। इस हमले में नक्सलियों के दो कमांडरों के साथ साथ करीब कई कुख्यात नक्सली मारे गए हैं। जंगलों और तालाबों के आस पास से लगातार लाश मिलने का सिलसिला जारी है. अब तक मुठभेड़ में मारे जाने वाले नक्सलियों की संख्या बढ़कर 40 हो गई है। गढ़चिरौली के जंगल में रविवार सुबह को नक्सलियों के खिलाफ सबसे बड़ा अभियान चलाया गया था। जिस जगह एनकाउंटर हुआ, वहां अभी भी कांबिंग और सर्च ऑपरेशन जारी है।

पिछले चार दशक में महाराष्ट्र में सबसे बड़ी कार्रवाई हुई है। ये मुठभेड़ नक्सलियों और सुरक्षा बल के बीच रविवार 22 अप्रैल, 2018 को गढ़चिरौली जिले में हुई थी। इस आमने सामने हुए मुठभेड़ में सुरक्षा बलों ने करीब 40 नक्सलियों को मर गिराया है। जिनमे कई महिलाएं भी हैं। मारे गए नक्सलियों में दो उच्च स्तर के कमांडर शामिल थे।

इस ऑपरेशन से जुड़े अधिलारी की मानें, ये मुठभेड़ घने जंगलों में सुरक्षा बलों व नक्सलियों के बीच हुई। इसमें सुरक्षाबलों ने नक्सलियों को भागने का मौका नहीं दिया जिस वजह से नक्सलियों को काफी नुकसान उठाना पड़ा है। ये मुठभेड़ भामरगढ़-इतापल्ली तालुका की सीमा पर बोरिया जंगल में मुठभेड़ हुई। सी-60 दस्ते ने सुबह करीब 7 बजे नक्सल रोधी अभियान की शुरुआत की, इस अभियान की शुरुआत छिपे हुए नक्सलवादियों के अचानक हमले के बाद की गई। सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच ये घमासान पांच घंटों तक सुबह 11 बजे तक जारी रहा।

इतने बड़े ऑपरेशन को अंजाम देने और कई सारे नक्सलियों को मार गिराने के बाद सोशल मीडिया में सुरक्षाकर्मियों का एक वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियों में गढ़चिरौली के अलग-अलग इलाकों में कामयाब मुठभेड़ के बाद सुरक्षाकर्मी जश्न मना रहे हैं। वीडियो में सुरक्षाकर्मी सपना चौधरी के मशहूर गाने पर डांस कर रहे हैं।


Close Bitnami banner
Bitnami