VIDEO : गंभीर बीमारी से लड़कर बनी है लेडी रैम्बो,बड़े बड़े पहलवान को पछाड़ चुकी हैं

बॉडी बिल्डर वर्षा आडवाणी ने एक बार फिर पुणे में आयोजित 11वीं सीनियर बॉडी बिल्डर मिस इंडिया और छठवीं फिजिक स्पोर्ट्समैन और वुमेन चैंपियनशिप-2018 में गोल्ड मेडल जीता। वर्षा अडवाणी को मिस इंडिया-2018 का खिताब हासिल हुआ। इस खिताब को जीतने के लिए वर्षा ने देश भर से आयीं कई महिला बॉडी बिल्डरों को पछाड़ कर ओस कंटेस्टेंट्स को अपने नाम किया।

गंभीर बीमारी से जूझकर हासिल किया है ये मुकाम

एक वक़्त ऐसा भी आया था की बॉडी बिल्डिंग के लिए ही जीने मरने वाली वर्षा को डॉक्टरों ने हमेशा के लिए उन्हें इससे तौबा करने को कहा था। वर्षा को थाइराइड हो गया था, जिसके बाद डॉक्टरों ने उन्हें कभी कसरत करने की सलाह दी गई। डॉक्टरों ने उनसे कहा था की अगर वो इसी तरह कसरत करती रहेंगी तो कई मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है।

बॉडी बिल्डिंग का लिया फैसला

जब डॉक्टरों ने उन्हें आगाह किया तो वर्षा ने इसे चुनौती के तौर पर लिया। उन्होंने फैसला किया की अब वो सिर्फ कसरत नहीं करेंगी बल्कि अपना पूरा ध्यान बॉडी बिल्डिंग पर देंगी। जिसके बाद उन्होंने जिम जाना शुरू कर बॉडी बिल्डिंग करने लगी। वह खूब खाती और खूब बॉडी बिल्डिंग करती थीं।

लोगों ने महिला समझकर हताश किया

वर्षा के मुताबिक लोगों को लगता है की महिलाएं लड़कियां वो सब नहीं कर सकती जो पुरुष कर सकते हैं। मैंने उनके इसी सोंच को बदलने की ठान ली थी। लोग लड़कियों को उनकी फिगर और बॉडी से ही आंकते हैं। अगर लड़की की फिगर में कुछ 19-20 हुआ तो कहा जाता है उनमें औरतों वाली बात नहीं है। अगर महिलाएं कसरत करेंगी, तो उनके डोले-शोले बन जाएंगे। मसल्स दिखने लगेंगे और उनका लड़कियों वाला लुक खत्म हो जाएगा।

‘महाराष्ट्र श्री’ जीत चुकी हैं

वर्षा अपनी बॉडी बिल्डिंग के साथ साथ परिवार की जिम्मेदारियां भी बखूबी निभाते खुद को रखती हैं। वो सिक्स पैक को मेंटेन करने के साथ साथ अपने परिवार की जिम्मेदारियां भी बखूबी निभा रही हैं।

कई खिताब हैं उनके नाम

वर्षा ‘महाराष्ट्र श्री’ जीत चुकी हैं इसके इलावा सीनियर नेशनल फीमेल बीबी इंदौर, आईबीबीएफ में सिल्वर मिला था। गुड़गांव में आयोजित सीनियर्स नेशनल्स में वे चौथे स्थान पर रही थीं। वे वुमन बॉडी बिल्डिंग में आईबीबीएफ में महाराष्ट्र को रिप्रजेंट कर चुकी हैं। इससे पहले वे दक्षिण कोरिया की सिओल में आयोजित 51वीं एशियन बॉडी बिल्डिंग फिजिक स्पोर्ट्स चैंपियनशिप में पांचवां स्थान हासिल कर नागपुर का नाम रोशन कर चुकी हैं। यह प्रतियोगिता जीतने वाली वे नागपुर की पहली महिला बनी थीं। प्रतियोगिता में उन्हें गोल्डन ट्राफी और सर्टिफिकेट मिला था।


Close Bitnami banner
Bitnami