गुरमीत राम रहीम की गोद ली बेटी हनीप्रीत के खिलाफ देशद्रोह का केस दर्ज, लुकआउट नोटिस भी जारी

गुरमीत राम रहीम को कोर्ट से भगाने के मामले में पुलिस ने उनकी मुंहबोली बेटी हनीप्रीत के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी कर दिया है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार डेरा प्रमुख को दोषी करार देने के बाद राम रहीम के गनमैन उसे कोर्ट से भगाकर लेकर जाना चाहते थे। इस पूरे मामले की साजिश हनीप्रीत ने रची थी, जिसके चलते पुलिस ने हनीप्रीत के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज कर दिया है। वहीं हनीप्रीत के विदेश भागने की आशंका के चलते पुलिस ने उसके और डेरे के प्रवक्ता के खिलाफ लुकआउट नोटिस भी जारी किया है, ताकि वे कहीं विदेश ना भाग जाए।

रेप के दोषी गुरमीत राम रहीम को 20 साल की सजा हो गई है, लेकिन उनके साथ साये की तरह रहने वाली हनीप्रीत गायब है। वह राम रहीम की गोद ली हुई बेटी है। पहले इनका नाम प्रियंका तनेजा था बाद में वह हनीप्रीत बन गईं। वह राम रहीम के साथ कई फिल्मों में काम कर चुकी है। वह उसी हेलीकॉप्टर में सवार थीं, जिसमें राम रहीम को पंचकूला कोर्ट तक लाया गया था। डेरा सच्चा सौदा में हनीप्रीत की सबसे ज्यादा चलती है इसलिए उन्हें डेरा की अगली उत्तराधिकारी के तौर पर भी देखा जा रहा था।

हरियाणा के फतेहाबाद की रहने वाली हनीप्रीत और विश्वास गुप्ता की शादी राम रहीम ने ही कराई थी। हालांकि दोनों की शादी ज्यादा दिन नहीं चल सकी। कुछ समय बाद उसने राम रहीम से शिकायत की, कि उसके ससुराल वाले दहेज के लिए परेशान कर रहे हैं। इसके बाद राम रहीम ने साल 2009 में उसे गोद ले लिया था। हालांकि राम रहीम पहले से ही तीन बच्‍चों का बायलॉजिकल पिता है, जिनमें दो बेटियां अमनप्रीत, चमनप्रीत और बेटा जसमीत इंसा शामिल हैं।

साल 2011 में विश्वास गुप्ता ने पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में मुकदमा ठोंककर डेरा सच्चा सौदा प्रमुख के कब्जे से बीवी को मुक्त कराने की मांग भी की थी। गुप्‍ता ने राम रहीम पर हनीप्रीत के साथ अवैध संबंध होने का आरोप भी लगाया था।

Source: NDTV India